हिन्दी
Select Category
1 - 50 of 1314 >>

मैंने बहुत घिनौने काम किए हैं, मेरा कुछ हो सकता है? || आचार्य प्रशांत (2020)


धोखा देकर शारीरिक संबंध बनाने वाले || आचार्य प्रशांत (2020)


इनकी हैसियत नहीं संस्कृत का सम्मान करने की || आचार्य प्रशांत (2020)


धार्मिक किताबें सीधी भाषा में क्यों नहीं होतीं? || आचार्य प्रशांत, आइ.आइ.टी बॉम्बे के साथ (2020)


क्या राष्ट्रवाद हिंसक है, और सेना हिंसा का माध्यम?


हिंसा क्या है?


सुंदरता - बात नाज़ की, या लाज की? || आचार्य प्रशांत (2020)


कुछ लोग राष्ट्रवाद को बुरा क्यों मानते हैं? || आचार्य प्रशांत (2020)


यूट्यूब और टिकटॉक पर गालीगलौज वायरल क्यों? || आचार्य प्रशांत (2020)


कड़वे अनुभवों के बाद भी कामवासना मरती क्यों नहीं? || आचार्य प्रशांत (2020)


गुरु से सीखें या जीवन के अनुभवों से? || आचार्य प्रशांत, आजगर गीता पर (2020)


क्या सिखाना चाहती है कोरोना महामारी? || आचार्य प्रशांत, कोरोनावायरस पर (2020)


गुलामी चुभ ही नहीं रही, तो आज़ादी लेकर क्या करोगे? || आचार्य प्रशांत (2020)


जीवन के सुख-दुःख क्या भाग्य पर निर्भर करते हैं


एक वायरस बाहर का, एक वायरस भीतर का


कोरोना वायरस, भगवान, और धर्म || आचार्य प्रशांत, कोरोनावायरस पर (2020)


मार्क्स, पेरियार, भगतसिंह की नास्तिकता || आचार्य प्रशांत (2020)


एक मुर्गे से सीख लेते थे आचार्य प्रशांत? (2020)


पढ़ने बैठो तो मन भागता है || आचार्य प्रशांत (2020)


धर्म ने बर्बाद किया भारत को


आसपास दमदार-समझदार महिलाएँ दिखाई नहीं देतीं? || आचार्य प्रशांत (2020)


बच्चों की असफलता और बेरोज़गारी से घर में तनाव


धर्म के नाम पर जानवरों की हत्या || आचार्य प्रशांत (2020)


भारत क्या है? भारतीय कौन? || आचार्य प्रशांत (2020)


इसे कहते हैं असली जवानी || आचार्य प्रशांत, स्वामी विवेकानंद पर (2020)


कामवासना: अध्यात्म बनाम मनोविज्ञान || आचार्य प्रशांत (2020)


दूसरे देशों के अंधविरोध-बहिष्कार का नाम देशभक्ति नहीं || आचार्य प्रशांत (2020)


सारा जहाँ मस्त, मैं अकेला त्रस्त


ऐसे चुनोगे तुम कैरियर?


इतनी शोहरत इतनी कमाई, फिर भी उदासी और तन्हाई


ये आशिक़ी ले डूबी तुम्हें || आचार्य प्रशांत (2019)


तुम्हारा दुश्मन तुम्हारे भीतर बैठ शासन कर रहा है || आचार्य प्रशांत (2019)


छोटी बातों में उलझे रहोगे तो बड़ा काम कब करोगे? || आचार्य प्रशांत (2019)


सिर्फ़ ऐसे बच सकते हो अवसाद (डिप्रेशन) से || आचार्य प्रशांत (2019)


कैद में हो, जूझ जाओ! || आचार्य प्रशांत (2019)


खुद जग जाओ, नहीं तो ज़िंदगी पीट कर जगाएगी || आचार्य प्रशांत (2019)


इस अकेलेपन की वजह और अंजाम जानती हैं ? || आचार्य प्रशांत (2019)


महापुरुषों जैसा होना है? || आचार्य प्रशांत (2019)


कैरियर बनाने को ही पैदा हुए हो?


उसके लिए प्राण भी जाए, तो कोई बात नहीं || आचार्य प्रशांत, श्रीरामकृष्ण परमहंस पर (2019)


अपनी भाषा, अपनी बात, अपनी जिंदगी - यही है अध्यात्म


इतना क्यों लिपटते हो दुनिया से? || आचार्य प्रशांत (2019)


सब महापुरुष कभी तुम्हारी तरह साधारण ही थे || आचार्य प्रशांत (2019)


अपनी हैसियत जितनी ही चुनौती मिलती है सबको || आचार्य प्रशांत (2019)


दूसरों पर निर्भर गृहस्थ महिला कैसे बढ़े मुक्ति की ओर? || आचार्य प्रशांत, संत लल्लेश्वरी पर (2019)


बाहरी घटनाएँ अन्दर तक हिला जाती हैं? || आचार्य प्रशांत (2019)


इक ज़रा सी बात याद रखो || आचार्य प्रशांत (2019)


ठंड रख! || आचार्य प्रशांत (2019)


अहंकार का आखिरी दाँव क्या होता है?


स्त्री को नीचा क्यों माना धर्मों और बुद्धों ने?