संकल्पशक्ति बढ़ाने का ज़बरदस्त तरीका

May 31, 2021 | आचार्य प्रशांत

प्रश्नकर्ता: प्रणाम आचार्य जी, मेरा प्रश्न है कि संकल्प का बल कैसे बढ़ाया जाए?

आचार्य प्रशांत: संकल्प का जो बल है वो ऊँचे-से-ऊँचा तब होगा जब संकल्प का विषय ऊँचे-से-ऊँचा होगा। और यही उचित भी है क्योंकि अगर इससे अलग कुछ हो गया तो बात भयानक हो जानी है। किसी छोटे, क्षुद्र, निचले, विषय को ले कर के आपने बड़ा ज़बरदस्त संकल्प बना लिया तो आपको अधिक-से-अधिक हासिल भी होगा तो क्या? कुछ नहीं।

एक तो ये कि बहुत ज़्यादा कुछ हासिल होगा नहीं। दूसरी बात ऊँचा विषय ही आपकी ऊँची ऊर्जा को जागृत कर सकता है। जब आप किसी ऊँचे विषय को ले करके संकल्प बनाते हैं तो ही आपकी ऊँची ऊर्जा जागृत होती है। हममें से बहुत लोग कहा करते हैं कि आलस रह जाता है या इच्छा शक्ति नहीं उठती या मनोबल कुछ दूर चल कर टूट जाता है। उसकी वजह समझिए। आप जिस चीज़ की कामना कर रहे हैं, जिस चीज़ को लक्ष्य कर रहे हैं, वो इतना ऊँचा है ही नहीं कि उसके लिए बहुत जान या ताकत या संकल्प लगाना पड़े। तो फिर आपकी ज़िन्दगी में बहुत ऊर्जा की ज़रुरत ही नहीं है। आप करोगे क्या उतनी ऊर्जा का? ऊर्जा उठती भी नहीं।


ap

आचार्य प्रशांत एक लेखक, वेदांत मर्मज्ञ, एवं प्रशांतअद्वैत फाउंडेशन के संस्थापक हैं। बेलगाम उपभोगतावाद, बढ़ती व्यापारिकता और आध्यात्मिकता के निरन्तर पतन के बीच, आचार्य प्रशांत 10,000 से अधिक वीडिओज़ के ज़रिए एक नायाब आध्यात्मिक क्रांति कर रहे हैं।

आई.आई.टी. दिल्ली एवं आई.आई.एम अहमदाबाद के अलमनस आचार्य प्रशांत, एक पूर्व सिविल सेवा अधिकारी भी रह चुके हैं। अधिक जानें

सुझाव