मैं इतनी सुंदर हूँ मैं क्या करूँ || (2021)

August 11, 2021 | आचार्य प्रशांत

प्रश्नकर्ता: मैं दिखने में इतनी सुंदर हूँ मैं क्या करूँ?

आचार्य प्रशांत: सबसे पहले तो यही समझ लो कि इतनी सुंदर हो नहीं। ये इतना विचित्र है कि क्या इस पर बोलें। सुंदर माने क्या? कैसे पता चलता है कि कोई सुंदर है?

श्रोतागण: दूसरे बोलते हैं।

आचार्य: हाँ, तो आकर्षक बोल सकते हो न, सुंदर तो नहीं बोल सकते। तो आप सुंदर हैं या नहीं इसका प्रमाण भी दूसरे ही दे देते हैं। आकर्षक लग रहे हो, लोग खिंच रहे हैं आपकी ओर तो आपने कह दिया कि आप सुंदर हैं। तो इससे तो यही पता चलता है कि आप दूसरों के किसी काम के हो, दूसरे आपकी ओर खिंच रहे हैं तो।

दूसरे किस काम के लिए आपकी ओर खिंच रहे हैं भाई? क्योंकि साफ-सुथरे शब्दों के पीछे हम असलियत छुपा ले जाते हैं। जब आप बोलते हो कि "मैं बड़ी सुंदर हूँ।" तो वास्तव में आप बोल क्या रही हो? आप ये बोल रही हो कि, "मैं जवान लड़कों के, पुरुषों के यौनसुख, सेक्सुअल प्लेज़र के लिए बड़े काम की चीज़ हूँ।" यही हुआ न, या और भी कुछ हुआ इससे अलग? आप सुंदर हो तो आपकी ओर लोग खिंच रहे हैं, यही हो रहा है न? इसीसे आप कहते हो न कि मैं सुंदर हूँ।


ap

आचार्य प्रशांत एक लेखक, वेदांत मर्मज्ञ, एवं प्रशांतअद्वैत फाउंडेशन के संस्थापक हैं। बेलगाम उपभोगतावाद, बढ़ती व्यापारिकता और आध्यात्मिकता के निरन्तर पतन के बीच, आचार्य प्रशांत 10,000 से अधिक वीडिओज़ के ज़रिए एक नायाब आध्यात्मिक क्रांति कर रहे हैं।

आई.आई.टी. दिल्ली एवं आई.आई.एम अहमदाबाद के अलमनस आचार्य प्रशांत, एक पूर्व सिविल सेवा अधिकारी भी रह चुके हैं। अधिक जानें

सुझाव