शराब से मुक्ति || आचार्य प्रशांत (2019)

प्रश्न: आचार्य जी, शराब से मुक्ति मिलेगी क्या?

आचार्य प्रशांत जी:

हर चीज़ से मुक्ति मिल जाती है इस संसार में। बस होता ये है कि इंसान एक तरह की शराब छोड़कर दूसरे तरह की शराब पीने लग जाता है। तो शराब से मुक्ति चाहिए, तो मिल जाएगी। ‘मुक्ति’ चाहिए क्या? ये दोनों बहुत अलग-अलग बातें हैं।

शराब से मुक्ति चाहिए, बिलकुल मिलेगी। अ-शराब से बी-शराब पीने लग जाओ, हो सकता है वो समाज स्वीकृत हो, नैतिक शराब हो। उससे भी अगर मन भर जाए, तो अ-शराब और ब-शराब के बाद, स-शराब की ओर चले जाओ। उससे भी ऊब जाओ, तो फ़िर कुछ और, फ़िर कुछ और। मुक्तियों के सिलसिले-दर सिलसिले हैं।

Read Full Article