प्रेमिका छोड़ कर चली गई? || आचार्य प्रशांत (2019)

प्रश्न: आचार्य जी, मेरी प्रेमिका मुझे कल ही छोड़कर चली गई। दर्द में हूँ। क्या करूँ?

आचार्य प्रशांत जी: दूसरी खोज लो।

जब प्रश्न के केंद्र पर प्रेमिका बैठी है, तो तुम्हारी उत्सुकता प्रेमिका से आगे की है ही नहीं न। ये खेल चलता रहेगा – कभी एक से जुड़ोगे, कभी दूसरे से। कभी एक छोड़ेगा, कभी दूसरे को पकड़ोगे। ये खेल चलता रहेगा। यही करते रहना है?

तुम्हारे प्रश्न से लग रहा है कि बीस-तीस साल, बहुत होगा तो पैंतीस साल, इसी अवस्था के हो। ये जो समय है तुम्हारे पास, जिसमें बल है, ऊर्जा है, इसको इसी खेल में लगाना है, जैसे बहुत लोग लगाते हैं? और जब युवावस्था होती है, तो लगता है कि अभी समय बहुत है। पर वास्तव में समय कितना है? तीस साल -चालीस साल। बहुत तो नहीं है न।

Read Full Article