गुरु से सीखें या जीवन के अनुभवों से? || आचार्य प्रशांत, आजगर गीता पर (2020)

ज़िन्दगी इतने सारे तुमको संयोग देती है, उन्हीं संयोगों में से एक संयोग का क्या नाम है? गुरु, या ज्ञानी, या संत, या तत्वदर्शी। तुम बिल्कुल ही मूर्ख होगे अगर ज़िंदगी जो कूड़ा-कचरा तुम्हें देती है उसको तो तुम 'ज़िंदगी' बोलकर स्वीकार कर लो।