हम ऐसे बदलेंगे नौकरशाही, राजनीति और देश को || आचार्य प्रशांत (2019)

आम आदमी अगर बदल गया, तो सारी व्यवस्था बदल जाएगी।

बदल जाएगी, या नहीं?

तो ज़रूरी है कि आम नागरिक की चेतना को जागृत किया जाए, फिर सारी व्यवस्थाएँ बदल जाएँगी, फिर कलेक्टर, कमिश्नर, प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति, सब बदल जाएँगे।

Read Full Article