क्या सिखाना चाहती है कोरोना महामारी? || आचार्य प्रशांत, कोरोनावायरस पर (2020)

आज भी ज़्यादातर लोग यही सोच रहे हैं कि ये जो महामारी है, ये बस एक दुर्घटना है, संयोगवश हो गई, एक ऐक्सिडेंट भर है। नहीं। देखिए, दुर्घटना नहीं है, ये कर्मफल है। इस बात को समझिए।

छोटी दुर्घटना है, तब ही चेत जाइए, नहीं तो और बड़े-बड़े आघात लगेंगे।

Read Full Article